Rudra Server : भारत का पहला स्वदेशी सर्वर रूद्र

आजादी के अमृत महोत्सव (Azadi ka Amrit mahotsav) के अंतर्गत इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय आजादी का डिजिटल महोत्सव (Azadi ka Digital Mahotsav) भी मना रहा है। केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर (Rajeev Chnadrashekhar) ने पहला देसी सर्वर-रूद्र (RUDRA) को लांच किया। साथ ही ब्लॉकचेन पर राष्ट्रीय रणनीति जारी किया गया। श्री चंद्रशेखर ने कहा कि यह भारत सरकार की आत्मानिर्भर भारत की राष्ट्रीय पहल की ओर बढ़ते हुए सुपरकंप्यूटिंग में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने के लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में एक कदम है।

RUDRA Server

रूद्र (RUDRA) पहला स्वदेशी सर्वर (indigenous server) है। यह एमईआईटीवाई (MEITY) और डीएसटी (DST) के सहयोग से राष्ट्रीय सुपरकंप्यूटिंग मिशन (एनएसएम) के तहत सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग (C-DAC)) द्वारा विकसित किया गया है।

source : asianetnews

“यह सर्वर आँकलन के आधार पर देश की अलग-अलग जरूरतों के अनुसार डिजाइन और डिस्ट्रिब्यूशन क्षमता को दर्शाने का भी काम करेगा, जिसके चलते राष्ट्रीय रूप से व्यापाक रणनीतिक बनाने में भी मदद मिल सकेगी।”

क्या है देसी सर्वर रूद्र । What is Rudra Server

दरअसल, रुद्र सर्वर, एनएसएम के फेज-3 का परिणाम है। इस मिशन का उद्देश्य भारत में सुपर कंप्यूटरों का डिजाइन और निर्माण करना है। यह भारत जैसे देश के लिए अतिमहत्वपूर्ण है। एचपीसी सिस्टम, हाइपरस्केल डेटा सेंटर, एज कंप्यूटिंग, बैंकिंग और वाणिज्य, विनिर्माण, तेल और गैस उद्योग, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा, मनोरंजन उद्योग, रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा सहित अन्य क्षेत्रों के लिए यह स्वदेशी सर्वर काफी उपयोगी है।

Rudra Server क्या काम करेगा? 

पर आपमें से बहुत से लोग ये जानना चाहते होंगें कि आख़िर ये Rudra Server क्या काम करेगा? तो आपको बता दें, मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार इस सर्वर का इस्तेमाल एकल रूप से क्लासिकल कमर्शियल सर्वर (Classic Commercial Server) के साथ-साथ बड़े ‘सुपरकंप्यूटिंग सिस्टम’ को बनाने के लिए किया जाएगा।

देखा जाए तो रुद्र सर्वर (Rudra Server) नेशनल सुपरकंप्यूटिंग मिशन (NSM) के फेज-3 के तहत बनाया गया है। पर सवाल उठता है कि भला नेशनल सुपरकंप्यूटिंग मिशन (NSM) है क्या?

What is National Supercomputing Mission (NSM)?

नेशनल सुपरकंप्यूटिंग मिशन (NSM) का मक़सद भारत में ही स्वदेशी तरीक़े से सुपर कंप्यूटरों को डिजाइन करने और अंतिम रूप से देश के भीतर ही इनका निर्माण करने का है। संभावनाओं को देखते हुए भारत जैसे देश में इस पहल की अहमियत और भी बढ़ जाती है।

और अब देश में मिलने वाला ये स्वदेशी सर्वर हाई पर्फ़ॉर्मन्स कम्प्यूटर (HPC) सिस्टम, हाइपरस्केल डेटा सेंटर, एज कंप्यूटिंग, बैंकिंग और वाणिज्य, विनिर्माण, तेल और गैस उद्योग, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा, मनोरंजन उद्योग, रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा सहित अन्य क्षेत्रों के लिए काफी उपयोगी साबित होता।

ब्लॉकचेन की राष्ट्रीय रणनीति जारी

श्री चंद्रशेखर ने ब्लॉकचेन पर राष्ट्रीय रणनीति भी जारी की है। रणनीति दस्तावेज़ का उद्देश्य साझा ब्लॉकचैन बुनियादी ढांचे के माध्यम से विश्वसनीय डिजिटल प्लेटफॉर्म बनाना है। इसके तहत रिसर्च एंड डेवलपमेंट, इनोवेशन, टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देने के साथ नागरिकों और उनके व्यवसाय को अत्याधुनिक प्लेटफार्म देना है। इसके साथ ही एक विश्वसनीय डिजिटल सेवा से लैस करना है।

क्या है ब्लॉकचैन? 

ब्लॉकचैन ई-गवर्नेंस साल्युशन और अन्य डोमेन के लिए एक परफेक्ट टेक्नीक है जो डिजिटल प्लेटफार्म के प्रति विश्वास जगाता है। ब्लॉकचैन आवश्यक सुरक्षा और गोपनीयता प्रदान करता है, और केवल विश्वसनीय संस्थाओं को विशेषाधिकार के साथ रिकॉर्ड करने और जवाबदेह तरीके से विवरण तक पहुंचने की अनुमति देता है।

Rudra Server FAQ :

Question: Which is First Indigenous Server ?

Answer: रूद्र (RUDRA) देश का पहला ऐसा सर्वर है जिसको देश में ही बनाया गया है, इसलिए इसको First Indigenous Server की उपाधि भी दी गई है।

Leave a Comment