गूगल Titan Security Key क्या है

इंटरनेट की ज़माने में हम में से कई लोग हैकिंग का शिकार हो जाते है चाहे वो फेसबुक एकाउंट की बात हो या गूगल एकाउंट या फिर कोई और सोशल एकाउंट हो, 2 स्टेप वेरिफिकेशन के बाद भी आपका एकाउंट हैक किया जा सकता है, इसीलिए आपके एकाउंट्स को सुरक्षित रखने के लिए YubiKey और Google Titan Security Key बनाया गया है।

गूगल की यह टाइटन सिक्योरिटी की दो वेरिएंट में उपलब्ध होगी. एक वेरिएंट में ब्लूटूथ और एनएफसी का सपोर्ट दिया गया है. यह टू फैक्टर ऑथेन्टिकेशन मोबाइल डिवाइस के लिए होगा .

Google Titan Security Key को कैसे करें इस्तेमाल 

Google Titan Security Key को इस्तेमाल करने के लिए पहले इस key को आपको अपनी गूगल एकाउंट के साथ जोड़ना होगा। जोड़ने के लिए आपको अपनी जीमेल की सेटिंग में जाना होगा वहां आपको security key बिकल्प को चुनना होगा, चुनने के बाद आप key के साथ एकाउंट जोड़ पाएंगे।

एकाउंट जुड़ जाने के बाद आप बिना key के खुद भी आपकी एकाउंट को नही खोल सकते, एकाउंट खोलने से पहले आपको अपनी स्मार्टफोन या कंप्यूटर में key को लगाना होगा इसीलिए key को अच्छे से रखना या फिर आप बैकअप के लिए दो key का इस्तेमाल कर सकते है।

क्या है ये टू स्टेप वेरिफिकेशन?

टू स्टेप वेरिफिकेशन दरअसल एक्स्ट्रा सिक्योरिटी का फीचर है. इसके तहत अकाउंट लॉग-इन करने से पहले सिर्फ पासवर्ड ही नहीं बल्कि पिन की जरूरत होती है. उदाहरण के तौर पर अगर जीमेल का टू स्टेप ऑथेन्टिकेशन यूज करेंगे तो आपको ईमेल लॉग-इन करने के लिए पासवर्ड के बाद मोबाइल पर रिसीव किए गए मैसेज का पिन दर्ज करना होगा. इसके बाद ही आपका जीमेल खुलेगा. यानी अगर किसी ने आपका पासवर्ड गेस कर लिया तो वो आपका अकाउंट नहीं खोल पाएगा, खोल पाएगा, क्योंकि इससे पहले आपके नंबर पर पिन आएगा.

YubiKey और Google Titan Security में क्या है अंतर

Yubikey को yubico कंपनी द्वारा निर्मित किया गया है, वहीं Google Titan Security Key को google कंपनी द्वारा बनाया गया है।

आप दोनों में से कोई भी key इस्तेमाल कर सकते है लेकिन Google Titan Security Key को इस्तेमाल करना ज़्यादा बेहतर है पर इसमें बोहोत से सीमाएं है।

Leave a Comment